CURRENT AFFAIRS

1st August 2017

स्वच्छ सर्वेक्षण-2018

केन्द्र सरकार ने स्वच्छ सेवाओं में सुधार हेतु बुनियादी ढाँचागत विकास और उनके टिकाऊपन, परिणाम, इससे नागरिकों का जुड़ाव तथा जमीनी स्तर पर नजर आने वाले प्रभावों की समीक्षा करने के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 का शुभारम्भ किया है। यह अपनी श्रेणी का चौथा सर्वेक्षण है। इसकी शुरुआत 2015 से की गई थी। 2017 के स्वच्छ सर्वेक्षण में कुल 434 शहरों को शामिल किया गया था जबकि 2018 में 476 एवं 2016 में सिर्फ 73 शहर शामिल किए गए थे।

2018 को स्वच्छ सर्वेक्षण विश्व का सबसे बड़ा स्वच्छ सर्वेक्षण होगा। इसमें भारत के सभी 4041 कस्बों तथा शहरों को शामिल किया जाएगा। 2017 के सर्वेक्षण की तुलना में नागरिकों की प्रतिक्रिया के लिए कुल वेटेज तथा स्वच्छता पर स्वतंत्र अवलोकन के लिए 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है। स्वच्छता के लिए नए तरीकों व समाधानों को बढ़ावा देने के लिए एक नया मानदण्ड अभिनव जोड़ा गया है। इसके साथ ही इस सर्वेक्षण में नगर पालिकाओं द्वारा किए गए अविशष्ट प्रबंधन को भी सर्वेक्षण में शामिल किया जाएगा।
इस सर्वेक्षण के अंतर्गत कुल 71 स्वच्छता सम्बन्धी मानदण्डो आधार बनाया गया है।

 

 

Godman to Tycoon: The Untold Story of Baba Ramdev

                                  Written By 

About the author

Amit Singh

Leave a Comment