CURRENT AFFAIRS

28 JULY 2017

मेकदातु प्रोजेक्ट

कर्नाटक सरकार ने केन्द्रीय जल आयोग द्वारा मेकदातु में कावेरी क्षेत्र में 5912 करोड़ रु का जलाशय बनाने के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया दी है। गौरतलब है कि कावेरी एक अंतर्राज्यीय नदी है और इस पर कर्नाटक द्वारा इस प्रोजेक्ट को शुरु करने का तमिलनाडु ने विरोध किया था और कहा था कि यह कावेरी नदी जल प्राधिकरण के आदेश का उल्लंघन है। जिसके बाद कर्नाटक सरकार इस मुद्दे को लेकर केन्द्रीय जल आयोग में पहुँची जहाँ पर फिलहाल CWC ने कर्नाटक सरकार से इस प्रोजेक्ट का स्पष्टीकरण माँगा है।

केन्द्रीय जल आयोग (CWC)

यह आयोग देश के भीतर जल संसाधन के क्षेत्र में एक मुख्य तकनीकी संगठन है। यह केन्द्र-राज्य तथा राज्य-राज्यों के बीच होने वाले जल विवादों में सलाहकार का काम करता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके कार्यों को 3 भागों में बाँटा गया है।

  1. अभिकल्प एवं अनुसंधान
  2. नदी प्रबंधन
  3. जल आयोजना एवं परियोजना

 

इसके वर्तमान अध्यक्ष प्रदीप माफऱ

CSE ने तीन मसालों के लिए Codex मानदण्ड को स्वीकार किया-

Codex Alimentarius Commission (CAC) ने विभिन्न देशों में गुणवत्ता वाले मसालों की पहचान करने के लिए एक सार्वभौमिक समझौते के लिए काली, सफेद व हरी मिर्च, जीरा और अजवाइन के लिए तीन कोडेक्स मानकों को अपना लिया है। ये मानक मसालों की गुणवत्ता से सम्बन्धित है।

About the author

Amit Singh

Leave a Comment